[ad_1]
एक बार #मनमोहन_सिंह जी अपने लॉन में बैठ कर क़िताब पढ़ रहे थे कि तभी #जेटली जी आ धमके.
अपनी हेकड़ी में बोले-
क्या चल रहा है मनमोहन जी?
मनमोहन सिंह ने #सौम्यता से कहा-
लॉजिक पर नई किताब आई है,
वो पढ़ रहा हूँ.
जेटली ने उत्सुकता से पूछा-
#लॉजिक??
ये क्या होता है?
मनमोहन जी ने मुस्कुराते हुए कहा-जानें दो,
आपके समझ में नहीं आएगा.
जेटली जी ने झेंपते हुए और थोडा सौम्य बनते हुए कहा- आप समझाएँगे तो आ जाएगा,
आख़िर पूर्ण बहुमत है हमारे पास.
मनमोहन जी ने #समझाना शुरू किया-
देखो,
लॉजिक यानी,
दी हुई परिस्थिति में,
उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर विचार करते हुए किसी #निष्कर्ष पर पहुँचने को लॉजिक कहते हैं.
जेटली जी ने #असहजता की छुपाते हुए कहा- #एक्साम्पल के साथ समझाइये…
मनमोहन सिंह ने कहा-
मैं तुम से दो तीन प्रश्न पूछूँगा और उन्ही के आधार पर कुछ निष्कर्ष निकाल कर बताऊँगा..
पूछिए,
पूछिए…
अब जेटली जी की उत्सुकता चरम पर थी…
मनमोहन जी ने पूछा- आप के घर फिश पॉट है?
जेटली जी-हाँ है.
मनमोहन जी- तो इसका निष्कर्ष ये है कि उसमें संभवत: मछलियाँ भी होंगी,
और उन्हें खाना देने का काम आप की पत्नी/ बच्चे करते होंगे,
यानी आप शादीशुदा हैं
और पिता भी यानी आप नपुंसक नहीं हैं.
जेटली जी की आँखें विस्मय के मारे फटी की फटी रह गयी-
सोचने लगे-
इतनी राज़ की बात तो सिर्फ मुझे और मेरी पत्नी को ही मालूम है…
क़िताब छीनते हुए बोले,
हाँ समझ आ गया,
बाक़ी #पढ़कर समझ लूँगा..
जेटली जी किताब ले के चले गए….
और मनमोहन सिंह मंद मंद मुस्कुराने लगे.
.
#दृश्य_2
.
जेटली जी सुबह सुबह अपने लॉन में बैठ कर क़िताब पढ़ रहे हैं कि तभी #मोदी जी आ गए.
मोदी जीे- क्या चल रहा है जेटली जी?
जेटली जी ने #हेकड़ी में कहा-
लॉजिक पर नई किताब आई है,
वो पढ़ रहा हूँ.
मोदी जी ने उत्सुकता से पूछा-लॉजिक??
ये क्या होता है?
जेटली जी ने #उपहासात्मक तरीके से कहा-
जानें दो,
आपके समझ में नहीं आएगा.
मोदी जी नाराज़ हो कर बोले..
साहेब हैं हम,
पूर्ण बहुमत है हमारे पास.
जेटली जी ने #सहमकर समझाना शुरू किया-
देखो, लॉजिक यानी,
दी हुई परिस्थिति में,
#उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर विचार करते हुए किसी निष्कर्ष पर पहुँचने को लॉजिक कहते हैं.
मोदी जी ने #आश्चर्य को छुपाते हुए कहा- कैसे?? एक्साम्पल के साथ समझाइये…
जेटली जी ने कहा-
मैं तुम से दो तीन प्रश्न पूछूँगा और उन्ही के आधार पर कुछ निष्कर्ष निकाल कर बताऊँगा..
पूछिए,
पूछिए…
अब मोदी जी की उत्सुकता चरम पर थी…
जेटली जी ने पूछा- क्या आप के घर #फिश_पॉट है?
मोदी जी- नहीं है…
जेटली जी तुरंत बोल पड़े..
यानी आप ” #नपुंसक” हैं…
.
नोट:
१) इस घटना के सभी पात्र #काल्पनिक हैं.
२) मेरा #पासपोर्ट रीन्यू होने गया है इसलिए अभी पाकिस्तान नहीं जा पाउँगा..क्षमा करें.
३) पोस्ट पर #बदतमीज़ी न करें…
इस कहानी का लेखक भी बदतमीज़ी करना जानता है.
४) सिर्फ #लाइक नहीं #शेयर अवश्य करें.
५) मनमोहन जी मंद मंद मुस्कुरा रहे हैं..
आप भी #मुस्कुराइए
[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *